राजस्थान सोलर पंप योजना :: कैसे करें पंजीकरण

सोलर पंप योजना

सरकार ने प्रधानमंत्री कुसुम योजना की पहली सूची जारी कर दी है और राजस्थान राज्य में  योजना के
आवेदन स्वीकार किए जा रहे हैं । इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार राजस्थान सरकार पेट्रोल व डीजल के पंपों को सौर पैनलों में परिवर्तित कर देगी। इस सूची में भारत के 1.75 लाख पंप जो पेट्रोल और डीजल से चलते  हैं इन पंप को सोलर पैनल में बदला जाएगा।

Read More

Agriculture ICAR Hindi Magazine – Agrigyan.in

Agriculture ICAR(Kheti) Hindi Magazine Q: What is Agriculture magazine ? Ans: Agriculture magazine is a publication of ICAR? Agriculture magazine is published every month by ICAR. In which those techniques are told about new and cheap. All these techniques are for farmers, but this magazine is knowledgeable for agricultural students. Therefore, we should read them. Q: Can i download these files? Ans: Yes, you can download all these files.   #1 Agriculture(kheti) Hindi Feb-2020 Magazine #2 Agricuture(Kheti) Hindi Jan-2020 Magazine #3 Agriculture(Kheti) Hindi Dec-2019 Magazine #4 Agriculture(Kheti) Hindi Oct-2019 magazine #5 Agriculture(Kheti) Hindi Sep-2019 magazine…

Read More

Biogas and Biogas Plants in Hindi

Biogas_plant

    Biogas And Biogas Plants  Biogas【बायोगैस】 – – बायोगैस को साधारण भाषा में गोबर गैस भी कहते हैं। बायोगैस  में हर प्रकार के सड़े गले पदार्थ का उपयोग किया जाता है इसमें बायोमास उत्पादों या गोबर को सड़ाकर गैस के रूप में एकत्रित करके उपयोग किया जाता है। लगातार जनसंख्या बढ़ने से विद्युत और गैस आदि की मात्रा में भारी कमी देखने को मिल रही है और जनसंख्या के निरंतर बढ़ने से कचरे या अपशिष्ट की मात्रा में भी बढ़ोतरी हो रही है अतः इस समस्या के निपटान के लिए…

Read More

What is Agriculture Technology 【कृषि प्रौद्योगिकी】

 【Agriculture Technology【कृषि प्रौद्योगिकी】                        पुराने जमाने और आधुनिक जमाने के कृषि तरीकों में बहुत ज्यादा अंतर देखने को मिलता है । इसका मुख्य कारण कृषि प्रौद्योगिकी या Agriculture Technology है। वर्तमान समय में एग्रीकल्चर टेक्नोलॉजी के द्वारा कृषि कार्यों को बहुत आसानी से व कम समय में पूरा किया जा सकता है एग्रीकल्चर टेक्नोलॉजी अब बड़े देशों में ही नहीं बल्कि सभी देशों में कारगर है।                            …

Read More

गन्ना【SUGARCANE】-Importence,Climate, Showing Time, Insect,Disease, Yield

       गन्ना【SUGARCANE】 वानस्पतिक नाम-  सेकेरम आफिसिनेरमकुल- ग्रेमनीउत्पत्ति(Origin)- भारत2n – 80 गन्ना【SUGARCANE】-Importence,Climate, Showing Time, Insect,Disease, Yield Importance–                       गन्ने का उपयोग कपड़ा बनाने में,चीनी बनाने में,एल्कोहल में वह शीरा वह शीरा शीरा बनाने में किया जाता है। Climate–               गन्ने की फसल के लिए उष्णकटिबंधीय जलवायु उपयुक्त मानी जाती है। Varieties–               CO-527, CO-419, CO- 997,CO-449, CO-1111, CO-1007, CO66 etc Manure & Fertilizer–1) नाइट्रोजन= 120-150kg/h2) फास्फोरस= 50-60kg/h3) पोटेशियम=40Kg/h Seed Rate–                    गन्ने की अधिकतम पैदावार के लिए तीन कलिका वाले टुकड़ों की 40 से 45 हजार तक संख्या  पर्याप्त मानी जाती है ।…

Read More

सरसों【MUSTARD】- Importence, Climate, Seed Rate, Insects, Disease And Yield

      सरसों【MUSTARD】 वानस्पतिक नाम-  ब्रेसिका स्पिसिजकुल- क्रूसीफेरीउत्पत्ति(Origin)-  चीन, भारत2n –  20 Importance–                         सरसों के तेल का उपयोग खाद्यान्न में व सरसों से खली भी प्राप्त की जाती है भी प्राप्त की जाती है। Climate–                सरसों रबी ऋतु की फसल है इस की फसल के लिए 18 से 25 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान उपयुक्त माना जाता है। Varieties–                 पूसा कल्याणी, पूसा बोल्ड, आरएच 30, वसुंधरा,स्वर्ण ज्योति, कृष्णा,आरएच 819। Seed Rate–                   शुष्क क्षेत्रों के लिए 4 से 5 किलोग्राम व सिंचित क्षेत्रों के लिए 2.5 किलोग्राम बीज प्रति हेक्टेयर पर्याप्त माना…

Read More

चना【GRAM】-Climate, seed rate, Importance, Showing time, insect, Disease, Yield

        चना【GRAM】 वानस्पतिक नाम- साइसर एराइटिनम & काबूलियमकुल- लेग्यूमिनेसी उत्पत्ति(Origin)-  दक्षिणी-पश्चिमी एशिया2n –  14,16 Importance–                     इसका उपयोग बेसन, दाल, दुधारू पशुओं को खिलाने में किया  जाता है। चना【GRAM】-Climate, seed rate, Importance, Showing time, insect, Disease, Yield Climate–                चने की फसल के लिए ठंडा व शुष्क मौसम उपयुक्त मारा जाता है इसकी खेती के लिए ढेले वाली मृदा उपयुक्त मानी जाती है । Varieties–                  सी 235, आर.एस 11  वरदान, विजय, प्रताप चना 1, प्रगति, बी.जी 209, C-235 etc Seed Rate–                    चने की सामान्य बीजदर 80-100kg/h मानी जाती है।…

Read More

जौ- Climate, Importance, Yield, Insect

          जौ【BARLEY】वानस्पतिक नाम- हार्डियम वल्गेयरकुल- ग्रेमिनी या पोएसीउत्पत्ति(Origin)- एबीसीनिया (इथोपिया)2n –  14       जौ- Climate, Importance, Yield, Insect IMPORTANCE-                          जो का उपयोग माल्ट, शराब,बियर आदि  बनाने में किया जाता है। Climate-               इसके लिए  शीतोष्ण,ठंडी और नम जलवायु उपयुक मानी जाती है जो कि  अच्छी बढवार लिए 12 से 15 डिग्री सेंटीग्रेड  तापमान उपयुक्त माना जाता है। Soil-        इस की खेती की लिए बलुई दोमट व दोमट  भूमि उपयुक्त रहती है । Varieties-                  RDB 1, RD 57, राजकिरण, बिलाड़ा, RD 2035 etc. Seed Rate-                     जौ…

Read More